July 22, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

आपकी ऐसी आदतें, कर देंगी माता लक्ष्मी को नाराज; जानें और बरतें सावधानी !

आपकी ऐसी आदतें, कर देंगी माता लक्ष्मी को नाराज; जानें और बरतें सावधानी !

हिंदू धर्म के अनुसार माता लक्ष्मी हमारी धन की देवी हैं जो कंगाल को राजा और पलभर में कंगाल भी बना सकती हैं। सभी लोग चाहते हैं की माता लक्ष्मी की कृपा उनपर बानी रहे और उसे जीवन में किसी भी प्रकार की आर्थिक समस्या का सामना ना करना पड़े। अक्सर देखने को मिलता हैं कि व्यक्ति कड़ी मेहनत के बावजूद भी उसे प्रतिकूल फल नहीं मिलते हैं और वो आर्थिक परेशानियों से जूझता रहता है। इसके पीछे का कारण हो सकती हैं आपकी कुछ आदतें हो सकती हैं। जी हां, आपकी कुछ आदतें ऐसी हो सकती हैं जो माता लक्ष्मी को नाराज करती हो। आज इस कड़ी में हम उन्हीं आदतों की जानकारी देने जा रहे हैं जिनकी वजह से माता लक्ष्मी का आशीर्वाद नहीं मिल पाता।

सूर्योदय और सूर्यास्त के समय सोना

हमारे वेद और पुराणों में सूर्यादय से पहले नींद से जागने को सर्वश्रेष्‍ठ माना गया है। कुछ आलस्‍य के मारे सूर्योदय के बाद भी काफी देर तक सोते रहते हैं जो कि कतई अच्‍छा नहीं माना जाता। देर तक सोने वालों से मां लक्ष्‍मी कभी खुश नहीं रहतीं। वहीं कुछ लोग दिन भर आराम नहीं करते और सूर्यास्‍त के वक्‍त अक्‍सर लेट जाते हैं। यह कतई अच्‍छी आदत नहीं है। गोधूलि बेला का समय पूजापाठ का माना जाता है, इस वक्‍त सोना या फिर लेटना बहुत ही अशुभ होता है।

प्रसाद में तुलसी का इस्तेमाल

भगवान व‌िष्‍णु को तुलसी बहुत प्यारी है, तभी उसे विष्णु प्रिया कहा जाता है। भगवान व‌िष्‍णु के शाल‌िग्राम स्वरूप से उनका विवाह हुआ है इस नाते वह देवी लक्ष्मी की सौतन हैं। देवी लक्ष्मी को कुछ भी अर्पित करते समय उसमें तुलसी और तुलसी मंजरी न डालें।

हाथ पर नमक लेना या देना

कुछ लोग ऐसे होते हैं कि नमक मांगने पर हाथ में देते हैं और उन्‍हें खुद भी नमक चाहिए होता है तो उसे हाथ में लेते हैं। यह आदत मां लक्ष्‍मी को कतई पसंद नहीं है। हमेशा जब भी आपसे कोई नमक मांगे तो उसे किसी पात्र में रखकर दें। हाथ में भूलकर भी किसी को नमक न दें। एक बात का और ध्‍यान रखें कि शाम के वक्‍त न ही किसी को नमक उधार दें और न ही किसी से नमक उधार लें।

क्रोध करना

क्रोध व्यक्ति के सोचने समझने की शक्ति को खत्म कर देता है। क्रोध की वजह से हमारा मन भी अशांत हो जाता है और अशांत मन में कभी भी भगवान का वास नहीं होता है। जो व्यक्ति क्रोध करते हैं, मां लक्ष्मी उनसे दूर ही रहती है।

जूठे मुंह पढ़ाई करना

ज्‍यादातर घरों में बच्‍चे ऐसा करते हैं कि भोजन करने के बाद हाथ नहीं धोते और मुंह का कुल्‍ला नहीं करते और यूं ही पढ़ाई करने बैठ जाते हैं। यह आदत बिल्‍कुल भी अच्‍छी नहीं है। जिन घरों में ऐसा होता है मां लक्ष्‍मी उस घर से दूर चली जाती हैं। अगर आप चाहते हैं कि आपके साथ ऐसा न हो तो खुद भी इस नियम को मानें कि खाने के बाद हाथ और मुंह जरूर साफ करें और घर के बच्‍चों को भी यह बात बताएं। शास्‍त्रों में भी जूठे हाथ से लिखने-पढ़ने की सामग्री छूना बहुत ही गलत माना गया है।

रात के समय बाल और नाखून काटना

रात के वक्‍त बाल और नाखून काटना बहुत ही अशुभ माना जाता है। मान्‍यता है कि रात के वक्‍त अशुभ शक्तियां सक्रिय हो जाती हैं, इसलिए रात के वक्‍त बाल और नाखून काटने से आपके ऊपर गलत प्रभाव पड़ सकता है। वहीं रात मां लक्ष्‍मी भी ऐसा करने से अप्रसन्‍न होती हैं और आपके पास धन की कमी होने लगती है। इसलिए आप भी ऐसा करते हैं तो अब ऐसा करना छोड़ दीजिए।

ब्रह्म महूर्त और संध्या समय में भोग-विलास

ब्रह्म महूर्त सुबह 2 से 4 बजे तक होता है। जो व्यक्ति इस समय पर और संध्या समय में भोग विलास करता है उसका भाग्य उदय नहीं हो सकता है। ये समय आराधना के लिए सबसे उचित माने जाते हैं।

साफ़ सफाई का ध्यान ना रखना

अगर आप भी चाहते हैं कि माँ लक्ष्मी आपके घर में निवास करें और आप पर धनों की वर्षा हो, तो अपने घर की साफ़ सफाई में कोई लापरवाही ना बरतें। मां लक्ष्मी उन्हीं लोगों पर अपनी कृपा बरसाती हैं, जहां साफ़ सफाई पर बहुत ज़्यादा ध्यान दिया जाता है। मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए हमेशा अपने घर में मुख्य द्वार को साफ़ रखें। साथ ही शाम ढलने के बाद आप अपने घर में झाड़ू न लगाएं। दिन ढलने के बाद देवी आपके घर में वास नहीं करती हैं।

भोजन को बीच में छोड़कर उठ जाना

अगर आप भी ऐसा करते हैं कि कोई बात याद आने पर भोजन बीच में ही छोड़कर उठ जाते हैं, तो समझ लीजिए यह एक बहुत ही बुरी आदत है। भोजन हमेशा पूरी तरह से खत्‍म करने के बाद ही उठना चाहिए नहीं तो मां लक्ष्‍मी आप से प्रसन्‍न हो जाएंगी। ऐसे लोगों के घर में कभी भी बरकत नहीं रहती जो भोजन को बीच में ही छोड़कर उठ जाते हैं। मां अन्‍नपूर्णा भी ऐसे लोगों से नाराज हो जाती हैं।