July 12, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

CWG 2022: भारत को मिले दो गोल्ड मेडल, नीतू घंघस और अमित पंघाल के मुक्कों से विरोधी पस्त !

CWG 2022: भारत को मिले दो गोल्ड मेडल, नीतू घंघस और अमित पंघाल के मुक्कों से विरोधी पस्त !

बर्मिंघम : भारत के लिए गर्व का क्षण. कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के 10वें दिन की शुरुआत भारत के लिए काफी अच्छी रही। बॉक्सिंग में टीम इंडिया ने जीते दो गोल्ड मेडल। जबकि हॉकी में कांस्य पदक जीता। भारत की नीतू ने महिला ओवर 45 किग्रा-48 किग्रा (न्यूनतम वजन) में स्वर्ण जीता, अमित ने पुरुषों के 48 किग्रा-51 किग्रा (फ्लाईवेट) स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। अमित ने फ्लाईवेट वर्ग में इंग्लैंड के मैकडोनाल्ड को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

भारतीय वुमेंस बॉक्सर नीतू घंघस ने राष्ट्रमंडल खेलों की वुमेंस मिनिममवेट (45-48 किग्रा) कैटेगरी में मेजबान इंग्लैंड की रेस्जटान डेमी जेड को 5-0 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। वहीं, भारत के अमित पंघाल ने मेंस 48 किग्रा-51 किग्रा (फ्लाईवेट) कैटेगरी में इंग्लैंड के कियारन मैकडोनाल्ड को 5-0 से हराया और गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया। भारत के गोल्ड मेडल की संख्या अब 15 हो गई है।

रविवार का दिन नीतू और अमित के लिए खास रहा। ऐसे में उम्मीद है कि आज शाम सात बजे और रात को एक बजे दो और भारतीय मुक्केबाजों का फाइनल है, जिसमें दो और गोल्ड की उम्मीद जगी है। भारतीय समय के अनुसार शाम सात बडे निखत जरीन वुमें लाइट फ्लाइवेट फाइनल में उतरेंगी और देर रात एक बजे मेंस हेवीवेट के फाइनल सागर एहलावत नजर आने वाले हैं।

नीतू ने यह मैच एकतरफा मुकाबले में जीत लिया। पांचों जजों ने सर्वसम्मति से नीतू को 5-0 से जीत की घोषणा की। फाइनल मैच में नीतू को वही आक्रामक फॉर्म मिला, जो उन्होंने सेमीफाइनल और क्वार्टर फाइनल में दिखाया था। वह इंग्लैंड के मुक्केबाज पर घूंसे बरसाती रही।

गौरतलब है कि नीतू ने भारत को गोल्ड मेडल भी दिलाया था। उन्होंने इंग्लैंड के मुक्केबाज को बुरी तरह हराया। इस तरह कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के 10वें दिन खबर लिखे जाने तक भारत को बॉक्सिंग से दो गोल्ड मेडल मिले. वहीं, महिला हॉकी को कांस्य पदक मिला।

इससे पहले नीतू ने सेमीफाइनल मुकाबले में कनाडा की प्रियंका ढिल्लों को हराया था। इस मैच के तीसरे दौर में उन्होंने कनाडा के मुक्केबाज पर इतने घूंसे मारे कि रेफरी को खेल रोकना पड़ा और नीतू को विजेता घोषित करना पड़ा। इससे पहले क्वार्टर फाइनल मैच में भी नीतू ने विपक्षी आयरिश मुक्केबाज क्लाइड निकोल को इस तरह से घूंसा मारा था कि दूसरे दौर के बाद ही उन्हें विजेता घोषित कर दिया गया था।

आपको बता दें कि 21 साल की नीतू पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले रही हैं। वह भारतीय दिग्गज मुक्केबाज मैरी कॉम की वैट श्रेणी में खेल रही हैं। नीतू हरियाणा के भिवानी जिले के धनाना गांव की रहने वाली हैं। वह रोजाना अपने गांव से 20 किमी दूर धनाना में बॉक्सिंग क्लब में ट्रेनिंग के लिए जाती थी। नीतू को बॉक्सर बनाने के लिए उसके पिता ने उसकी नौकरी तक दांव पर लगा दी थी।

सीडब्ल्यूजी 2022 में भारत

घंघास और पंघाल द्वारा हासिल की गई दो जीत के सौजन्य से, चल रहे राष्ट्रमंडल खेलों में भारत की पदक तालिका 43 हो गई है। भारोत्तोलन और कुश्ती स्पर्धाओं में भारत ने सबसे अधिक पदक जीते हैं।