July 22, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

Salman Rushdie on Ventilator: कई घंटे तक चली सर्जरी के बाद वेंटिलेटर पर हैं लेखक सलमान रुश्दी, आंख गंवाने का खतरा, हमलावर ने किए थे 10 से 15 वार !

Salman Rushdie on Ventilator: कई घंटे तक चली सर्जरी के बाद वेंटिलेटर पर हैं लेखक सलमान रुश्दी, आंख गंवाने का खतरा, हमलावर ने किए थे 10 से 15 वार !

नई दिल्ली: लेखक सलमान रुश्दी (Salman Rushdie ) पर न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम के दौरान मंच पर हमला हुआ. इस हमले में रुश्दी गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें बाद में एयरलिफ्ट करके पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया. फिलहाल अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है. इस हमले के बाद लेखक को चाहने वाले लाखों लोग उनके जल्द ठीक होने की कामना कर रहे हैं. इसी बीच न्यूयॉर्क से सलमान रुश्दी की हालत को लेकर अपडेट सामने आया है. जिसमें बताया गया है कि रुश्दी की कई घंटे तक सर्जरी चलती रही, जिसके बाद वो फिलहाल वेंटिलेटर पर हैं.

करीब 20 सेकेंड तक आरोपी ने रुश्दी पर एक के बाद एक करीब 10 से 15 वार किए. वहीं एपी के एक रिपोर्टर ने भी इस बात की पुष्टि की है कि हमलावर ने रुश्दी पर कम से कम 15 बार वार किया है.

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने लेखक सलमान रुश्दी के बुक एजेंट के हवाले से उनका हेल्थ अपडेट दिया है. जिसमें बताया गया है कि सलमान रुश्दी घंटों की सर्जरी के बाद वेंटिलेटर पर हैं, उनकी एक आंख खराब होने की संभावना है. हालांकि वो खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं. डॉक्टर उनकी जल्द से जल्द रिकवरी की पूरी कोशिश कर रहे हैं.

रुश्दी पर कैसे हुआ हमला?

दरअसल लेखक सलमान रुश्दी न्यूयॉर्क में एक कार्यक्रम को संबोधित करने जा रहे थे, तभी अचानक एक शख्स उनकी ओर तेजी से दौड़ा और उसने चाकू से उन पर वार कर दिया. चाकू से हमला होते ही रुश्दी नीचे गिर पड़े. इस दौरान वहां मौजूद लोग मंच पर आए और उन्होंने रुश्दी को संभाला, वहीं सुरक्षाबलों ने हमलावर को धर दबोचा. फिलहाल ये साफ नहीं हो पाया है कि इस शख्स ने रुश्दी पर जानलेवा हमला क्यों किया. अमेरिका की एजेंसियां आरोपी से पूछताछ कर रही हैं.

बता दें कि भारतीय मूल के सलमान रुश्दी अपने लेखन को लेकर हमेशा से चर्चा में रहे हैं. वो पिछले कई सालों से अमेरिका में रह रहे हैं. उनकी कुछ किताबों को लेकर उन्हें कई बार धमकियां भी मिलीं. जिसके चलते रुश्दी को सुरक्षा भी दी गई थी. फिलहाल पुलिस ये पता लगाने में जुटी है कि इस हमले के पीछे किस संगठन का हाथ है.