July 22, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

Story of Radha Krishna : आखिर भगवान कृष्ण ने राधा से क्यों नहीं की थी शादी? जानिए कारण !

Story of Radha Krishna : आखिर भगवान कृष्ण ने राधा से क्यों नहीं की थी शादी? जानिए कारण !

Story of Radha Krishna : आखिर ऐसा क्या हुआ होगा या किस कारण भगवान श्री कृष्ण ने राधा जी से शादी नई की, आपलोग भी जब राधा कृष्ण की कहानियाँ सुनते या देखते होंगे तो आपके मन मे ये सवाल जरूर ही आता होगा की कृष्ण जी ने राधा जी से शादी क्यू नहीं किए थे, भगवान श्रीकृष्ण की रास लीलाओं के बारे मे भला कौन नहीं जनता होगा. बचपन से ही हम श्रीकृष्ण से जुड़ी कई कहानियां-कथाएं सुनते आए हैं. इसी तरह श्रीकृष्ण और राधा की प्रेम की दास्तां भी बड़े-बुजुर्गाें, टेलीविजन शो में देखते-सुनते आए हैं. श्रीकृष्ण राधा का प्रेम- त्याग, समर्पण और अटूट विश्वास का प्रतीक है, लेकिन क्या आप जानते हैं असीम प्रेम होने के बाद भी श्रीकृष्ण और राधा ने शादी क्यों नहीं की? इसके पीछे कई पौराणिक कथाएं प्रचलित हैं. पंडित इंद्रमणि घनस्याल आज इन कथाओं को बता रहे हैं.

यह भी पढ़ें: क्या था कारण ? भगवान विष्णु के कृष्णावतार लेने का देवकी और वसुदेव के घर मे, आइये जानें !

शादी के बंधन में नहीं बंधे राधा-कृष्ण

ब्रह्मवैवर्त पुराण के मुताबिक, यशोदा के भाई रायान गोपा से राधा का विवाह हुआ था, जिस वजह से राधा रिश्ते में श्रीकृष्ण की मामी लगने लगी थीं. कहा जाता है इस वजह से उनकी शादी नहीं हो सकी. श्रीकृष्ण के रुक्मणी से विवाह के पीछे एक वजह ये भी बताई जाती है कि उन्होंने रुक्मणी को ही राधा का स्वरूप मान लिया था.

एक अन्य पौराणिक कथा के अनुसार, वृंदावन छोड़ते वक्त श्रीकष्ण ने राधा से वापस लौटकर आने का वादा किया था. जब श्रीकृष्ण लौटकर आए तो उनकी मुलाकात रुक्मणी से हुई थी. रुक्मणी ने अंतर्मन में श्रीकृष्ण जी को अपना पति मान लिया था. तब श्रीकृष्ण जी ने रुक्मणी से विवाह कर लिया.

यह भी पढ़ें: स्वर्ग के समान हैं वृन्दावन भूमि; कृष्ण भक्तों के लिए, यहां इन 8 मंदिरों के दर्शन जरूर करें !

कहा जाता है कि बालपन में जब श्रीकृष्ण और राधा की मुलाकात हुई थी, तब उन्हें प्रेम का आभास हो गया था. लेकिन राधा श्रीकृष्ण की उम्र से 11 महीने बड़ी थी. दोनों के बीच आध्यात्मिक प्रेम था, इसलिए दोनों शादी के बंधन में नहीं बंधे.

विवाह की एक कथा

पौराणिक कथा के मुताबिक, जब भगवान श्रीकृष्ण बाल अवस्था में नंद बाबा की गोद में खेल रहे थे, तब उन्हें एक अद्भुत शक्ति का आभास हुआ. कहा जाता है कि वो अद्भुत शक्ति राधा ही थीं, जिसके बाद कृष्ण जी बाल अवस्था से यौवनावस्था में पहुंच गए. तब ब्रह्मा जी ने राधा-कृष्ण का विवाह करवाया था, जिसके बाद ब्रह्मा जी और राधा जी अंतरध्यान हो गए और श्री कृष्ण वापस अपनी बाल अवस्था में आ गए.