July 14, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

महंत नरेंद्र गिरि का पोस्टमॉर्टम शुरू, बाघंबरी मठ में नींबू के पेड़ के पास दी जाएगी समाधि !

महंत नरेंद्र गिरि का पोस्टमॉर्टम शुरू, बाघंबरी मठ में नींबू के पेड़ के पास दी जाएगी समाधि !

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि को आज अंतिम विदाई दी जाएगी। जानकारी के अनुसार आज यानी बुधवार को 12 बजे उन्हें भू-समाधि दी जाएगी। महंत नरेंद्र गिरि को बाघंबरी मठ के बगीचे में समाधि दी जाएगी। महंत नरेंद्र गिरि की अंतिम इच्छा थी कि उनकी समाधि बाघंबरी मठ में नींबू के पेड़ के पास दी जाए। यह बात उन्होंने अपने सुसाइड नोट में भी लिखी है। इससे पहले उनका पार्थिव शरीर बाघंबरी मठ से स्वरूप रानी नेहरू हॉस्पिटल के पोस्टमार्टम हाउस ले जाया गया। वहां 5 डॉक्टरों की टीम पोस्टमार्टम कर रही है।

महंत नरेंद्र गिरी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में देश के कोने-कोने से साधु संत प्रयागराज पहुंच रहे हैं। महंत के अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़ को देखते हुए प्रयागराज में शहरी क्षेत्र के 12वीं तक के सभी स्कूल-कॉलेज में छुट्‌टी कर दी गई है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए 2 एडिशनल एसपी, 4 सीओ, 8 थानेदार, 2 कंपनी पीएसी और 400 दरोगा-सिपाही की ड्यूटी लगाई गई है। इसके अलावा मॉनिटरिंग के लिए डीआईजी/एसएसपी, आईजी रेंज और एडीजी जोन खुद मौजूद रहेंगे।

बता दे, महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई थी। उनका शव प्रयागराज के उनके बाघंबरी मठ में ही फांसी के फंदे पर लटका मिला था। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। मौके से एक सुसाइड नोट भी मिला है। सुसाइड नोट में उन्होंने आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी को उनकी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। मामले में अभी आनंद गिरि और आद्या तिवारी की गिरफ्तारी हो चुकी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस मामले में एसआईटी (SIT) गठित की है।