July 21, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

संकट हरण बजरंगबली के इन मंत्रो के जाप से दूर होंगे आपके संकट, जानें !

संकट हरण बजरंगबली के इन मंत्रो के जाप से दूर होंगे आपके संकट, जानें !

संकट हरण बजरंगबली के इन मंत्रो के जाप से दूर होंगे आपके संकट, हिन्दू धर्म मे जब भी कभी लोगों के ऊपर कोई संकट आता है तो वे सबसे पहेले संकट हरण बजरंगबली का ही ध्यान करते हैं हनुमान जी को हम बजरंगबली के नाम से भी हम जानते हैं, हनुमान जी को शिव का रुद्रावतार माना गया है. हनुमान जी श्री राम के सबसे बड़े भक्त और समर्पण के प्रतीक हैं. हनुमान जी ने अपना पूरा जीवन श्री राम को समर्पित किया. बजरंगबली शक्ति व साहस के प्रतीक हैं. हनुमान जी को महावीर, मारुति, पवनपुत्र, अंजनेय नाम से भी जाना जाता है. ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति उचित नियमों और भक्ति के साथ भगवान हनुमान की पूजा करता है, वह सभी संकटों से मुक्त हो जाता है|

यह भी पढ़े: Vastu Tips: Money Plant लगाए घर की इस दिशा मे, जानिए वास्तु शास्त्र के अनुसार सही दिशा !

हनुमान जी के मंत्र का महत्व

हनुमानजी को बजरंगबली के नाम से भी पुकारा जाता है. बजरंगबली का अर्थ है, जिसके पास हीरे, वज्र जैसा शरीर हो, जिसे तोड़ा नहीं जा सकता. बलि का अर्थ है शक्तिशाली. हनुमानजी के पास अलौकिक शक्तियां हैं. शास्त्रों के अनुसर, बजरंगबली के मंत्र जाप करने से ही लोगों की परेशानियां दूर हो जाती हैं. हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए इस मंत्र का जाप करना चाहिए. इसके जाप से घर परिवार में सुख समृद्धि का वास होता है. सभी संकट दूर होते हैं.

ओम ह्रां ह्रीं ह्रं ह्रैं ह्रौं ह्रः॥ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट्। ओम हं हनुमंताय नम:.

ओम नमो हनुमते रूद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा।

यह भी पढ़े: Mangalwar Ke Upay: मंगलवार को इन उपायों को करने से होगा लाभ मगर रखें कुछ बातो का ध्यान !

हनुमान जी के सिद्ध मंत्र: भय नाश के लिए

ॐ हं हनुमंते नम: ,

ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट।

महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते। हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्यये।।

ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा।

संकट दूर करने के लिए मंत्र

ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा!

कर्ज से मुक्ति के लिए मंत्र

ॐ नमो हनुमते आवेशाय आवेशाय स्वाहा।

यह भी पढ़े: आखिर कैसे हुए श्री हनुमान सिंदूरी, जानें पौराणिक कथा !

सभी बाधाओं से मुक्ति के लिए मंत्र

आदिदेव नमस्तुभ्यं सप्तसप्ते दिवाकर। त्वं रवे तारय स्वास्मानस्मात्संसार सागरात।

अतुलितबलधामं हेमशैलाभदेहं, दनुजवनकृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्।।
सकलगुणनिधानं वानराणामधीशं, रघुपतिप्रियभक्तं वातजातं नमामि ।।

संकटों से छुटकारा के लिए मंत्र

आदिदेव नमस्तुभ्यं सप्तसप्ते दिवाकर! त्वं रवे तारय स्वास्मानस्मात्संसार सागरात!!