July 12, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

हथेली में बनी ये रेखाएं इशारा करती हैं मनचाही नौकरी मिलने की, जानें इसके संयोग !

हथेली में बनी ये रेखाएं इशारा करती हैं मनचाही नौकरी मिलने की, जानें इसके संयोग !

बेरोजगारी के इस दौर में नौकरी मिलना आसान काम नहीं हैं, खासतौर से मनचाही नौकरी। कई लोग होते हैं जिन्हें अथक प्रयासों के बावजूद मनचाही नौकरी नहीं मिल पाती हैं जबकि कईयों के काम बिना किसी मेहनत के हो जाते हैं। इसका कारण बनती हैं आपके हथेली में बनी रेखाएं जो दर्शाती हैं कि नौकरी में आपके संयोग किस तरह के हैं। आज इस कड़ी में हम आपको इससे जुड़े संकेतों की जानकारी देने जा रहे हैं जिससे आप जान पाएंगे कि आपको अपनी मनचाही नौकरी मिलेगी या नहीं।

हथेली में बनी ये रेखाएं इशारा करती हैं मनचाही नौकरी मिलने की, जानें इसके संयोग !

यह संकेत हैं मनचाही नौकरी के

हस्‍तरेखाशास्‍त्र के अनुसार अगर क‍िसी जातक की हथेली में भाग्य रेखा शनि पर्वत पर समाप्त हो जाती है तो यह अत्‍यंत शुभ संकेत होता है। मान्‍यता है क‍ि भाग्‍य रेखा की यह स्थिति जातकों को मनचाही नौकरी द‍िलाने का योग बनाती है। इसके अलावा अगर शन‍ि उंगली की लंबाई सामान्‍य से थोड़ी अध‍िक हो और उस पर कोई कटी-फटी रेखा न हो। इसे उंगली की उत्‍तम स्थिति मानते हैं। मान्‍यता है क‍ि ऐसा होने से जातकों को मनचाहे क्षेत्र में सफलता म‍िलती है।

इसे भी मानते हैं अत्‍यंत शुभ संकेत

हस्‍तरेखाशास्‍त्र के अनुसार अगर क‍िसी जातक की हथेली में शन‍ि पर्वत पूर्ण रूप से व‍िकस‍ित हो। उस पर क‍िसी तरह का क्रॉस का च‍िह्न भी न हो तो यह बहुत शुभ होता है। मान्‍यता है क‍ि ऐसे जातकों को नौकरी के ल‍िए दर-दर भटकना नहीं पड़ता बल्कि इन्‍हें पहले प्रयास में ही नौकरी म‍िल जाती है। इसके अलावा अगर क‍िसी जातक की हथेली में बृहस्पति और सूर्य पर्वत भी पूर्ण रूप से व‍िकस‍ित और साफ-सुथरे हों यानी क‍ि उनपर कटी-फटी रेखाएं न हों, तो ऐसे जातकों को मनचाही नौकरी-व्‍यवसाय के प्रथम प्रयास में ही सफलता म‍िल जाती है।

हथेली में बनी ये रेखाएं इशारा करती हैं मनचाही नौकरी मिलने की, जानें इसके संयोग !

मनचाही नौकरी के ल‍िए इसे भी मानते हैं शुभ

हस्‍तरेखाशास्‍त्र के अनुसार अगर क‍िसी जातक की हथेली में मस्तिष्क रेखा की स्थिति पूर्ण रूप से स्‍पष्‍ट हो तो यह अत्‍यंत शुभ होता है। मान्‍यता है क‍ि यह स्थिति जातकों को मनचाही नौकरी पाने में सफलता द‍िलाती है। इसके अलावा अगर क‍िसी जातक की हथेली में चंद्र पर्वत पूर्ण विकसित हो। साथ ही उससे एक सीधी व सरल रेखा बुध पर्वत की ओर जाती हो। या फ‍िर उससे कोई सहायक रेखा निकलकर शनि, गुरु, शुक्र, मंगल अथवा सूर्य पर्वत की ओर जाती हो तो यह भी शुभ संकेत होता है। कहा जाता है क‍ि ऐसे जातकों को व‍िदेशी व्‍यापार में अपार सफलता म‍िलती है।

ऐसी हो रेखाएं तो म‍िलती है यह व‍िशेष नौकरी

मनचाही नौकरी या फिर क‍िसी व‍िशेष नौकरी में सफलता प्राप्‍त करने का हथेली में ही संकेत होता है। हस्‍तरेखाशास्‍त्र के अनुसार अगर क‍िसी की हथेली में मंगल पर्वत अपने स्वाभाविक रूप में विकसित हो। मस्तिष्क रेखा तथा भाग्य रेखा पूर्ण लंबाई लिए हुए सीधी और स्पष्ट हो तो ऐसे योग वाला व्यक्ति मिलिट्री में या पुलिस में उच्च पद प्राप्त करता है। इसके अलावा शनि पर्वत पर अगर चक्र का चिह्न दिखाई दे तो ऐसे जातकों को उच्‍च प्रशासन‍िक पद म‍िलता है।

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। VisitorPlaces Team हिंदी इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले विशेषज्ञ से संपर्क जरुर करें।)