July 20, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

Palmistry: जानिए कैसा है इंसान का व्यक्तित्व, हाथ की अंगुलियों से पहचाना जा सकता है !

Palmistry: जानिए कैसा है इंसान का व्यक्तित्व, हाथ की अंगुलियों से पहचाना जा सकता है  !

Palmistry: हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हाथ की रेखाओं के अलावा हाथ की अंगुलियों मे भी छुपे होते हैं कई रहस्य. अंगुलियों का आकार, गठन और उन पर मौजूद चिह्न व्यक्ति के भूत व वर्तमान के साथ उसके भविष्य व चरित्र का भी परिचय देते हैं. तो आइये जानें अंगुलियों में छिपे उन्हीं रहस्यों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके आधार पर आप भी किसी व्यक्ति की अंगुलियों से ही उसके जीवन का आकलन कर सकेंगे.

यह भी पढ़ें: हस्तरेखा ज्योतिष: ये रेखाएं दर्शाती हैं कि हाथ में नहीं टिकता पैसा, धन संचय में होती हैं परेशानी !

अंगुलियों के नाम व पर्वत

अंगुलियों में छिपे राज जानने से पहले उनके नाम व उनसे संबंधित हस्त रेखा के पर्वतों के बारे में जानना बहुत जरुरी है. आपको बता दें कि हाथ के अंगूठे के पास की पहली अंगुली तर्जनी, दूसरी मध्यमा, तीसरी अनामिका व चौथी कनिष्ठा कहलाती है. जिनमें तर्जनी बृहस्पति, मध्यमा शनि, अनामिका सूर्य तथा कनिष्ठा बुध पर्वत पर स्थित होती है.

पतली व लंबी अंगुली श्रेष्ठ

हस्त रेखा शास्त्री प्रकाश दीक्षित के अनुसार हाथों में पतली व लंबी अंगुली को हस्त रेखा विज्ञान में श्रेष्ठ माना जाता है. ऐसे व्यक्ति रचनाकार, साहित्य प्रेमी, धार्मिक, चतुर तथा नीतिज्ञ होते हैं. अपेक्षाकृत सामान्य अंगुलियों वाला व्यक्ति समझदार तथा लंबी तर्जनी वाला व्यक्ति बुद्धिमान, ज्ञानी व निडर माना जाता है.

यह भी पढ़ें: हथेली की इन लकीरों से जाने, आपके भाग्य में सरकारी नौकरी का योग है या नहीं !

तर्जनी का झुकाव मध्यमा की ओर होना व्यक्ति की विनम्रता व खुले मन का प्रतीक है. इसी तरह मध्यमा अंगुली का बड़ा होना कार्य दक्षता तथा छोटा होना कुंठा व निराशा की निशानी है. तर्जनी व अनामिका का बराबर होना ईमानदारी व वफादारी तथा तथा हाथ में छह अंगुली अच्छे भाग्य का द्योतक है.

ऐसी अंगुली वालों से सावधान

हस्त रेखा शास्त्र के अनुसार छोटी अंगुली वाले लोगों से बचकर रहना चाहिए. ऐसी अंगुली वाले लोग स्वार्थी व सुस्त प्रवृति के होते हैं. इसके अलावा बड़ी तर्जनी तानाशाही तथा अपेक्षा से छोटी तथा टेड़ी-मेढ़ी कनिष्ठा धोखेबाज, बेईमान का प्रतीक माना जाता है. अधिक लम्बी अंगुलियों वाला व्यक्ति भी दूसरे के काम में हस्तक्षेप करने वाला माना जाता है.

यह भी पढ़ें: हथेली की रेखाओं द्वारा पता चलेगा संतान सुख, आप भी जान सकते हैं !

अंगुलियों के छेदों में छिपे हैं धन के राज

अंगुलियों में व्यक्ति के धन लाभ का राज भी छिपा होता है. हस्त रेखा शास्त्र के अनुसार अंगुलियों को आपस में मिलाने पर तर्जनी और मध्यमा के बीच छेद हो तो व्यक्ति 35 वर्ष की उम्र तक धन की कमी से परेशान रहता है. इसी तरह यदि छिद्र मध्यमा व अनामिका के बीच है तो जीवन के मध्य भाग और अनामिका व कनिष्का के बीच छिद्र है तो व्यक्ति को वृद्धावस्था में गरीबी परेशान करेगी.