July 14, 2024

Visitor Place of India

Tourist Places Of India, Religious Places, Astrology, Historical Places, Indian Festivals And Culture News In Hindi

हस्तरेखा: कुंडली के ग्रहों की तरह हाथ की रेखाएं और आकार भी बनाते हैं राजयोग, मिलता है अपार धन और यश!

हस्तरेखा: कुंडली के ग्रहों की तरह हाथ की रेखाएं और आकार भी बनाते हैं राजयोग, मिलता है अपार धन और यश!

Rajyog in Palmistry in Hindi: जिस तरह कुंडली आपका जीवन बताती है उसी तरह हाथ पर खींची गई रेखाएं भी बताती हैं कि आपका आने वाला जीवन कैसा रहेगा। हस्तरेखा शास्त्र में हथेली में बनने वाले कुछ राजयोगों को बेहद शुभ बताया गया है. इसमें से बुधादित्‍य राजयोग प्रमुख है. जिस तरह कुंडली में ग्रह बुधादित्‍य राजयोग बनाते हैं, वैसे ही हथेली में भी रेखाएं, पर्वत, निशान और आकृतियां बुधादित्‍य योग बनाती हैं. यह योग बहुत भाग्‍यशाली लोगों के हाथ में बनता है. जिस व्‍यक्ति के हाथ में बुधादित्‍य योग बने, उसे अपने जीवन में अपार दौलत-शोहरत मिलती है. वह बेहद मशहूर होता है. ऐसे जातक को विशेष तौर पर राजनीति में ऊंचा पद, सम्‍मान और पैसा मिलता है.

ऐसे बनता है हथेली में बुधादित्‍य राजयोग

यदि हाथ में सूर्य और बुध पर्वत आपस में मिल जाएं तो बुधादित्य योग का निर्माण होता है. हालांकि ऐसी स्थिति दुर्लभ ही देखने को मिलती है. उस पर यदि किसी व्‍यक्ति के हाथ में ना केवल सुर्य और बुध पर्वत आपस में मिल रहे हों, बल्कि पूर्ण विकसित भी हों तो ऐसा जातक अपार भौतिक सुख पाता है. वह व्‍यक्ति राजाओं की तरह जीवन जीता है. वह अपनी काबिलियत की दम पर ऊंचा मुकाम, प्रतिष्‍ठा, पद, पैसा सब कुछ हासिल करता है. ऐसे लोग अपने करियर को लेकर बेहद समर्पित होते हैं.

यह भी पढ़ें:Numerology: इन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद भाग्यशाली, बदल देते हैं पूरे परिवार की किस्मत !

सुंदर, बुद्धिमान और आकर्षक होता है जातक

जिस व्‍यक्ति के हाथ में बुधादित्य राजयोग बनता है, वह दिखने में बेहद सुंदर, आकर्षक और बुद्धिमान भी होता है. इनमें गजब की दूरिदर्शिता भी होती है. ऐसे व्‍यक्ति के पास खूब पैसा होता है. यूं कहें कि उसके जीवन में कभी भी पैसों की कमी नहीं होती है, बल्कि वह बेहद लग्‍जरी लाइफ जीता है. वे समाज में अपनी अलग पहचान बनाते हैं. सामाजिक तौर पर बहुत सक्रिय होते हैं और अपार लोकप्रियता पाते हैं.

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. visitorplacesofindia इसकी पुष्टि नहीं करता है.